• Registration No:- COOP/2019/KOTA/100677
  • kotayouthsociety@gmail.com
  • 91-9929644499
SDP Donation
Click Here
Blood Donation
Click Here
Plasma Donation
Click Here
Team Rakatdata
Click Here
Previous
Next

Team Rakatdata SDP DONATION

What is Single Donor Platelets (SDP)?

It is possible to obtain only Platelets from a Donor by a process called ‘Apheresis’. Like in routine blood donation, 350 ml. of blood is drawn from the donor. This is sent to a special Blood Bag, which is housed inside the Apheresis Machine. The machine spins, separates the Platelets and sends the remaining blood components back to the donor’s body. This cycle is repeated 6 – 8 times and the whole process will take approx 60 to 90 minutes. Almost 300 ml. of Platelets is obtained in this manner from just one donor. The Platelets so collected are called Single Donor Platelets (SDP).

टीम रक्तदाता कुछ वर्षो से जरुरतमंद लोगो के लिए एसडीपी दान करवा रही हैं, अभी तक टीम पूर्वोत्तर 1830 प्लस दान करवाए हैं जिस्म 2017 मैं एक ही दिन में 27 प्रक्रियाएं करवाई गई|

टीम के हर ग्रुप के करीब 700 रक्तदाता है जो 24 घंटे उपलब्ध हैं

कुछ रोगी के पास महंगी प्रक्रिया है के लिए पैसे नहीं होने पर टीम उनकी आर्थिक मदद भी करवाई|

TEAM RAKATDATA BLODD dONATION

क्यों ज़रूरी है रक्तदान?

रक्तदान को जीवन दान कहा जाता है। क्योंकि, किसी एक्सिडेंट या किसी अन्य वजह से होने वाले ब्लड लॉस (Blood Loss) या खून के नुकसान की भरपाई करने के लिए रक्तदान (Blood Donation) से मिला रक्त बहुत काम आ सकता है। रक्त दान करना एक बहुत ही अच्छा अहसास हो सकता है।  लेकिन, अगर आपको बताया जाए कि आप ऐसा नहीं कर सकते तो, आपको दुख महसूस हो सकता है। आए दिन हॉस्पिटल्स में ब्लड की कमी की समस्या आती हैं। जहां, ब्लड ग्रुप मैच (Blood Group Matching) ना होने की वजह से मरीज़ों को समय पर खून नहीं मिल पाता। ऐसे में कुछ लोग चाहकर भी मदद नहीं कर पाते क्योंकि, कई बार वे ब्लड डोनेट करने के लिए पात्र नहीं होते।

कैंसर, सिकल सेल डिज़िज़, प्रेगनेंसी कॉम्प्लिकेशन्स की वजह से होने वाली सर्ज़री और एनिमिया जैसी स्थितियों में मरीज़ को अतिरिक्त ब्लड चढ़ाने की ज़रूरत पड़ती है। वहीं, चिकन पॉक्स, हेपेटाइटिस बी और टेटनस  (Tetanus)  जैसी बीमारियों के खिलाफ प्रतिरोधक शक्ति को मज़बूत करने के लिए भी अतिरिक्त ब्लड की ज़रूरत पड़ती है।